किसान आंदोलन में मृत हुए किसानों को कानपुर दक्षिण कांग्रेस ने दी श्रद्धांजलि, मृत किसानों को शहीद का दर्जा दे मोदी सरकार

Spread the love

 

तीनों काले कृषि कानून वापस होने पर आंदोलन में मृत अन्नदाताओं को दी श्रद्धांजली
मृत किसानों को शहीद का दर्जा दे मोदी सरकार

केंद्र की हठ धर्मी भाजपा सरकार को आखिरकार अन्नदाता के सामने झुकना पड़ा। इसे चाहे आने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी सत्ता जाने का भय कहें या अपनी भूल सुधार, लेकिन इतने लंबे चले किसान आंदोलन के बाद अहंकार में अंधी मोदी सरकार को काले कृषि कानून को वापस लेने की घोषणा करनी पड़ी। नए कृषि कानून वापस होने की घोषणा के बाद शहर कांग्रेस कमेटी कानपुर दक्षिण के तत्वाधान में किसान आंदोलन के दौरान मृत हुए किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। श्रद्धांजलि देते हुए दक्षिण अध्यक्ष डॉ शैलेन्द्र दीक्षित ने काले कृषि कानून वापस होने को अन्नदाता की जीत बताया उन्होंने कहा कि तमाम विषम परिस्थितियों में आंदोलन को गति देते हुए सैकड़ों किसानों ने अपनी जान गंवा दी। अन्नदाता की यह जीत वापस में उन सैकड़ों मृत किसानों की जीत है। उन्होंने कहा कि देश के करोड़ों किसानों के हक की लड़ाई में मृत हुए किसानों को शहीद का दर्जा दिया जाना चाहिए। किसानों का हमदर्द बताने वाले देश के प्रधानमंत्री ने इतने लंबे चले किसान आंदोलन के दौरान तमाम बार आंदोलन को समाप्त करने के लिए षड्यंत्र रचा, उस क्षेत्र का बिजली पानी तक काट दिया गया, अन्नदाताओं के रास्ते में लोहे के भाले तक गढ़वा दिए, लेकिन अन्नदाता अपने हक की लड़ाई से पीछे नहीं हटा और अंत में केंद्र की तानाशाह मोदी सरकार को अन्नदाता के आगे घुटने टेकने पड़े और किसानों की जीत हुई। श्रद्धांजलि सभा का आयोजन प्रवीन द्विवेदी ने किया।
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से मनोज तिवारी, अंकज मिश्रा, पवन सिंह, अवनीश सलूजा, सुशील द्विवेदी, महेंद्र बाजपेई, आर के जगत, उमाकांत पांडे, मारुत शर्मा, अमित मिश्रा, बिन्नू रावत, बी के सिंह, गुड्डू शाह, पप्पू त्रिवेदी, सुमित सिंह चंदेल, मुस्लिम आजाद, आशीष मोरगन, हर्षित सिंह, बंटू बाजपेई, कुणाल सिंह, मनोज निगम, जवाहर शर्मा, भोला नाथ दुबे, मोनू पंडित आदि लोग उपस्थित थे.

Political head

Abhishek gupta

Shares
Total Page Visits: 99 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!