कानपुर दक्षिण कांग्रेस ने रक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजकर अर्मापुर गेट क्षेत्र कि जनता के लिए खोलने की मांग की..

Spread the love

 

दक्षिण कांग्रेस ने रक्षा मंत्री को भेजा ज्ञापन
आर्मापुर स्टेट का गेट क्षेत्रीय जनता के लिए खोलने की मांग

शहर कांग्रेस कमेटी कानपुर दक्षिण के अध्यक्ष डा.शैलेन्द्र दीक्षित ने रक्षा मंत्री मा.राजनाथ सिंह जी को संबोधित ज्ञापन रक्षा मंत्रालय भेजा। जिसमें उन्होंने आर्मापुर स्टेट के दोनों गेट आम जनता के लिए खोलने की मांग की है। डॉ दीक्षित ने बताया कि आर्मापुर स्टेट के अन्दर बाजार में लगभग 800 दुकानें हैं जिन्हें निर्माणयों द्वारा किराए पर दिया जाता है, जहां पर अभी तक स्टेट के निवासियों के अलावा आसपास की बस्तियों के लोग खरीदारी के लिए आते थे। लेकिन कुछ महीनों पहले निर्माणियों द्वारा लिए गए अप्रत्याशित निर्णय के बाद स्टेट के दोनों गेट क्षेत्रीय जनता के लिए बंद कर दिए गए और उन पर प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड तैनात कर दिए गए हैं।

इस निर्णय के बाद से स्टेट के अंदर दुकानों की बिक्री पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है ग्राहक दुकान तक न पहुंच पाने के कारण दुकानदार अपनी दुकान का किराया तक नहीं निकाल पा रहे है और दुकान बंद करने को मजबूर हैं। दुकानों से जुड़े लगभग 1000 परिवार भुखमरी की कगार पर हैं। इस संबंध में जानकारी जुटाने के लिए आज दक्षिण अध्यक्ष डा.दीक्षित अपने साथियों के साथ स्टेट की बाजार गए और दुकानदारों से मिले और उनकी तकलीफ को सुना। दुकानदारों की मांग को लेकर डॉ दीक्षित ने रक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजकर मांग की है कि पीड़ित दुकानदारों और उनके परिवारों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए स्टेट के दोनों गेट खोले जाएं जिससे आम जनमानस खरीदारी के लिए बाजार तक जा सके। इसके अलावा गेट पर जो प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड सुरक्षा के नाम पर आने-जाने वालों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं उन्हें तुरंत हटाया जाए अन्यथा दक्षिण कांग्रेस आर्मापुर स्टेट के दोनों गेटों पर विरोध प्रदर्शन करेगी।
ज्ञापन भेजने वालों में प्रमुख रूप से राम शेखर सिंह, सुरेन्द्र सिंह, अयोध्या नाथ मिश्रा, बी के सिंह, अमित मिश्रा, प्रवीन द्विवेदी, बिन्नू रावत, विवेक सिंह, हर्षित सिंह, कुणाल सिंह, बउआ केसरवानी, मन्नू, सन्नी, आसिफ, सन्दीप तिवारी आदि लोग शामिल थे।

Political head

Abhishek gupta

 

Shares
Total Page Visits: 109 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!