जालौन के लिये बड़ी उपलब्धी, जालौन कैरियर प्रोग्राम को प्रदेश में मॉडल के रूप में किया शामिल , 24 जनवरी से पूरे प्रदेश में हुआ लागू

Spread the love

 

जालौन उत्तर प्रदेश

..यूपी स्थापना दिवस मनाये जाने की घोषणा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की थी, जिसे 26 जनवरी तक मनाया जायेगा। स्थापना दिवस के अवसर पर प्रदेश भर के सभी जिलों में विभिन्न कार्यक्रमों के साथ- साथ आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश के तहत युवाओं के लिए मार्गदर्शन करियर कोचिंग की शुरुआत भी की जाएगी। जिसमें जालौन के करियर प्रोग्राम को मॉडल बनाया गया है। यह जालौन का तीसरा नवाचार है, जो पूरे प्रदेश में 24 जनवरी से लागू होने जा रहा है।

जालौन में सितंबर 2017 में जिलाधिकारी डॉक्टर मन्नान अख्तर ने जनपद की कमान संभाली थी, उसके बाद उन्होंने 2018 में गरीब वर्ग के मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए जालौन करियर प्रोग्राम शुरू किया था, जिससे कि गरीब वर्ग के बच्चे भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करके अपने भविष्य की नींव को मजबूत बना सकें। इसमें उन्होंने माध्यमिक शिक्षा विभाग का सहयोग लिया। इसमें जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत पटेल को निर्देश दिए कि कोचिंग शुरू की जाए। इसमें युवा अधिकारी के साथ डीएम ने भी कमान संभाली और उनकी पूरी टीम को सफलता मिली और जालौन करियर प्रोग्राम को शुरू किया गया। इस मॉडल को देखकर शिक्षा विभाग ने इसे मुख्यमंत्री की स्वीकृति मिलने के बाद 24 जनवरी को मनाये जाने वाले यूपी दिवस के दिन से प्रदेश भर में लागू किया जायेगा, जो जनपद के लिये गौरव की बात है।

पूरे प्रदेश में जालौन कैरियर प्रोग्राम के शुरू होने से पूर्व डीएम डॉ. मन्नान अख्तर ने बताया कि यह जनपद के लिये गर्व की बात है कि इसे मंडल स्तर से शुरू किया जा रहा है, उन्होंने बताया कि एक बार वह है स्कूलों में जाकर बच्चों की कैरियर काउंसलिंग कर रहे थे, उसी में एक बच्ची ने कहा कि उसे भी आगे पढ़ना है, लेकिन धन के अभाव में वह आगे नहीं पढ़ पा रही है, जिसके बाद उन्होंने शिक्षा विभाग के साथ मिलकर इस तरह की योजना की शुरुआत की और जिसमें आज भारत विकास परिषद भी इस योजना को सफल बनाने में सहयोग कर रहा है। आज इस कैरियर प्रोग्राम में पढ़ने वाले 13 मेधावी छात्र-छात्राओं द्वारा लोअर पीसीएस की परीक्षा पास की गई है, यह जनपद के लिए गर्व की बात है।
वही उरई के उप जिलाधिकारी सत्येंद्र कुमार द्वारा इन छात्रों को प्रतिदिन क्लास दी जा रही है यहां पर सभी अधिकारी एक निर्धारित समय में एक एक टॉपिक पढ़ाते हैं, जिससे इन मेधावी छात्रों को किसी प्रकार की कोई असुविधा पढ़ने में न हो सके।
बता दे कि जालौन में इससे पहले कौन बनेगा नन्हा कलाम, किशोरी शिक्षा समाधान कार्यक्रम भी चलाया जा रहा है, जिसमें कौन बनेगा नन्हा कलाम प्रतियोगिता प्रदेश भर में लागू हो गई और नन्हे साइंटिस्टों की खोज की जा रही है।
बता दे कि वर्ष के शुरुआत में ही जालौन को शिक्षा में किये गये नवाचारों के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत पटेल को ग्लोबल टीचिग एक्सीलेंट अवार्ड , इन्नोवेटिव डाइरेक्टर आफ द ईयर 2020, एशियन एजूकेशन अवार्ड से ऑनलाइन वर्चुअली नवाजा गया। इसके अलावा जालौन में चल रहे कौन बनेगा नन्हा कलाम, जालौन करियर प्रोग्राम, किशोरी शिक्षा समाधान तथा इन्स्पायर अवार्ड में वर्ष 2020 में प्रदेश में प्रथम स्थान एवं देश में सोलहवां स्थान प्राप्त किया है।

रिपोर्ट ब्यूरो हेड मयंक बाजपेई

 

Shares
Total Page Visits: 228 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!