इस दिवाली ना फुलझड़ी, ना अनार, देश में बढते प्रदूषण की मार..

Spread the love

लोकल वाॅइस न्यूज़.. 

आम जनता की आवाज.. 

पटाखो पर बैन :-  देश भर में बढ़ते प्रदूषण की मार इस दिवाली पर पड़ गयी, पटाखों पर लगा बैन.. 

देश भर में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर आज एनजीटी ने दिल्ली-एनसीआर पर पटाखों पर बैन लगाने का निश्चय किया है..

देश में प्रमुख शहरों में वायु प्रदूषण अपने चरम पर है। सबसे बुरा हाल दिल्ली-एनसीआर में है, जहां कोहरे के चादर की भांति आसमान में धुंध छाई हुई है। वहीं, इस त्योहारी सीजन पटाखों से होने वाले प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने सोमवार को बड़ा फैसला लिया।

दिल्ली-एनसीआर को लेकर यह है आदेश
एनजीटी के आदेश के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री या उपयोग पर 9 नवंबर की मध्यरात्रि से 30 नवंबर की मध्यरात्रि तक पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। फिलहाल दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बेहद की खराब स्तर पर है। पटाखों से निकलने वाला धुंआ इस स्थिति को और भी बदतर कर सकता है। एनजीटी के इस फैसले का असर एनसीआर में शामिल सभी जिलों पर लागू होगा।

यूपी के इन जिलों पर होगा एनजीटी के फैसले का सीधा असर:-
एनसीआर में उत्तर प्रदेश के आठ जिले शामिल हैं। इसमें गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, हापुड़, बागपत, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर और शामली शामिल हैं। एनजीटी के आदेश के बाद इन जिलों में पटाखों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध होगा।

यूपी के प्रमुख शहरों में से एक कानपुर में भी लगातार बढ़ रहे प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए मुख्य सचिव ने शहर में केवल दो घंटे की पटाखे फोड़ने की मोहलत दी है..

देश के इन हिस्सों के लोग जला पाएंगे पटाखे
एनजीटी ने अपने आदेश में कहा कि जिन शहरों में पिछले साल नवंबर की तुलना में इस साल नवंबर में वायु गुणवत्ता ठीक स्तर पर है। वहां पर ग्रीन पटाखों की ही बिक्री की जाएगी। आदेश में कहा गया है कि पटाखों का उपयोग दिवाली के दिन दो घंटे के लिए किया जा सकेगा। पटाखे जलाने के लिए ये दो घंटे कौन से होंगे, इसका निर्धारण राज्य सरकार करेगी।

रिपोर्टर- अभिषेक गुप्ता

Shares
Total Page Visits: 230 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!