कानपुर महानगर कांग्रेस कमेटी की आलोक प्रसाद की गिरफ्तारी के विरोध में प्रेस कॉन्फ्रेंस

Spread the love

लोकल वाॅइस न्यूज़.. 

आम जनता की आवाज.. 

कानपुर:- 

उ0प्र0 कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के चेयरमैन आलोक प्रसाद की उ0प्र0 सरकार द्वारा अलोकतांत्रिक और साजिश के तहत की गई गिरफ्तारी का कांग्रेस पार्टी पुरजोर विरोध करती है और मांग करती है कि  आलोक प्रसाद को तत्काल रिहा किया जाये।

दलित विरोधी मानसिकता के चलते उ0प्र0 की योगी सरकार दलितों को सम्मान और सुरक्षा देने मे नाकाम साबित हुई है। विगत कई महीनों मे यूपी में दलित उत्पीड़न और अत्याचार के मामलों मे लगातार वृद्धि हुई है। दलित बेटियों पर बलात्कार और हत्याओं से पूरा यूपी दहल गया है। हाथरस का मामला आप सभी के सामने है। जब तक माननीय न्यायालय ने संज्ञान नहीं लिया दलित विरोधी योगी सरकार इस मामले में पूरी तरह शान्त रही और घटना को छिपाने के लिए रातो-रात दलित बेटी के शव को पुलिस प्रशासन ने दबाव में पेट्रोल डालकर जला दिया। इस तरह की जघन्य घटनाये बुलन्दशहर, अमरोहा, कानपुर, गोरखपुर, आजमगढ़, गोण्डा, बस्ती, शाहजहांपुर, उन्नाव आदि जनपदों मे घटित हुई है। रोजाना प्रदेश के जनपदो मे बच्चियों के साथ रेप, गैंगरेप और हत्या की घटनाए सामने आ रही है। ऐसा पहली बार उ0प्र0 में योगी सरकार के शासनकाल में देखा गया है कि घाटमपुर मे 6 साल की बच्ची के साथ रेप करने के बाद भेजा निकालकर खाये जाने की घटना सामने आई है। इसके अलावा बांदा में सैकड़ो छोटे बच्चो के साथ कुकर्म करने वाले नरपिशाच, सामने आ रहे है। ऐसी परिस्थितियों मे सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही दलित हितैषी और दलितो के प्रति संवेदना दर्शाते हुये उनके साथ मजबूती से खडी रही। हमारी यूपी की प्रभारी आदरणीय श्रीमती प्रियंका गांधी जी एवं पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी स्वयं हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से मिले और उनको न्याय दिलायें। साथ ही हमारी पार्टी का हर कार्यकर्ता श्री आलेाक प्रसाद जी के साथ दिन दलितों के साथ हो रहे उत्पीड़न की जानकारी मिलते ही उनके दुख में साथ खडे होकर उन्हे न्याय दिलाने एवं एफआईआर दर्ज कराने के साथ पुलिस प्रशासन पर शीघ्र कार्यवाही करने पर दबाव बनाते रहे।
आलोक प्रसाद  कोरोना महामारी के समय भी दलितो के घर अनाज और दैनिक उपयोग की वस्तुयें कांग्रेसजनों के साथ पहुंचाते रहे।
उ0प्र0 की योगी सरकार को प्रदेश कांग्रेस के दलित चेयरमैन श्री आलोक प्रसाद का यह सेवाभाव रास नही आया। कांग्रेसजनो और उनकी सक्रियता को देखते हुये झूठे आरोपो और मुकदमें में फंसाकर साजिशन उन्हे 14 अक्टूबर की रात्रि में उनके आवास से पुलिस द्वारा जबरन गिरफ्तार कर असंवैधानिक रुप से जेल मे डाल दिया गया। इससे भाजपा का दलित विरोधी चेहरा उजागर हो गया है। यह संविधान का विच्छेदन कर संविधान मे प्रदत्त अधिकारो पर हनन करने पर अमादा है। उ0प्र0 कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग इसी के मद्देनजर दिनांक 26 नवम्बर 2020 को संविधान दिवस पर शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन कर श्री आलोक प्रसाद की रिहाई की मांग करते हुये जिलाधिकारी को एक संविधान की प्रति और श्री आलोक प्रसाद पासवान जी की एक फोटो भेंट करेगे। ताकि आगे आने वाले समय में असंवैधानिक रुप से किसी की गिरफ्तारी न हो, इसके लिए संविधान को बचाने के लिए प्रयास और संघर्ष कांग्रेस पार्टी करती रहेगी।
कार्यक्रम मे पूर्व संासद राकेश सचान, राजकुमार कनौजिया प्रदेश उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति, महानगर अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री, प्रदेश सचिव विकास अवस्थी, उ0प्र0 कां0 अनु0 जाति महासचिव विकास सोनकर, शहर अध्यक्ष शानू बुन्देला, नगर ग्रामीण अध्यक्ष डा0 आए गौतम, देहात अध्यक्ष मनोज वर्मा आदि उपस्थित थे।

Political Editior- Abhishek Gupta

Shares
Total Page Visits: 161 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!